♥भक्तिमति मीराबाई♥

 
♥भक्तिमति मीराबाई♥
Этот штамп был использован 4 раз
पिय बिन सूनो छै जी म्हारो देस॥ ऐसो है कोई पिवकूं मिलावै, तन मन करूं सब पेस। तेरे कारण बन बन डोलूं, कर जोगण को भेस॥ अवधि बदीती अजहूं न आए, पंडर हो गया केस। मीरा के प्रभु कब र मिलोगे, तज दियो नगर नरेस॥ ❤️छोड़ मत जाज्यो जी महाराज॥ मैं अबला बल नायं गुसाईं, तुमही मेरे सिरताज। मैं गुणहीन गुण नांय गुसाईं, तुम समरथ महाराज॥ थांरी होयके किणरे जाऊं, तुमही हिबडारो साज। मीरा के प्रभु और न कोई राखो अबके लाज॥
Теги:
 
shwetashweta
выгрузил: shwetashweta

Оцените это изображение:

  • В настоящее время 4.4/5 звездочек.
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5

7 Голосов.

 

Blingee, созданные с этим штампом

l'orientale
❤️ Krishna❤️Meerabai❤️
❤️Krishna❤️Meerabai❤️